~अगर आप मनसुख टाइम्स समाचार पत्र या समाचार पत्र की वेब साईट www.mansukhtimes.com में अपने विज्ञापन चाहते हैं तो कृपया हिन्दी में लिखें या 9457096970, 7902127305 पर सम्पर्क करें | धन्यबाद:~ मुख्य संपादक ~:आवश्यक सुचना:~ मनसुख टाइम्स समाचार पत्र के सभी सम्मानित और प्रिय पाठकों विज्ञापनदाताओं को अबगत कराना है कि मनसुख टाइम्स समाचार पत्र की बड़ती लोकप्रियता को देखते हुये कुछ लोग समाचार पत्र के नाम से अबेध उगाही कर रहे हैं । जिनसे मनसुख टाइम्स समाचार पत्र का कोई सम्बन्ध नही है । अतः आप सभी से निवेदन है यदि इस तरह का कोई भी व्यक्ति आप से धन उगाही का प्रयास करता है तो आप मो. न. 7902127305, 9457096970 नम्बर या सम्बन्धित थाना पुलिस को सूचित कर सकते हैं। इसके अलाबा मनसुख टाइम्स समाचार पत्र में प्रमुख पर्वों पर प्रकाशित विज्ञापन का नगद या चेक भुगतान मनसुख टाइम्स के नाम समाचार पत्र के अधिक्रत प्रतिनिधी को ऊपर दिये नम्बरों पर कॉल करके ही दें । :~ मुख्य संपादक

Friday, April 23, 2021

कोरोना से जंग जीतेगा भारत पढ़े कैसे ?


एडीटर मनसुख टाइम्स

एक नगर में महामारी आने वाली थी उसने नगर के राजा से कहा मैं आ रही हू और 500 लोगो की जान लुंगी राजा ने नगर में ढिंढोरा पिटवा दिया । हर तरफ महामारी की दहशत और डर का माहोल बन गया। जब महामारी जाने लगी तो राजा ने कहा तुमने तो 500 जानो के लिए कहा था लेकिन ये तो 5500 से भी ज्यादा हो गई । इस पर महामारी ने कहा मैंने तो 500 जाने ही ली है । बाकी तो आपने दहशत और डर का माहौल बनाया उससे 5000 मौतें हुईं है । इस पर बड़ा पछतावा हुआ लेकिन किया क्या जाये एक तुच्छ गलती से पाँच हजार जाने चली गईं । लेकिन अब फिर वही गलती की जा रही है उसे रोकें और धैर्य व सयंम से काम लें बुरा वक्त गुजर जायेगा समझदारी साबधानी से काम लें । अफवाहों पर ध्यान देना बंद कर दें । अपना और अपनों का ख्याल रखें । साफ सफाई और अपने आस पास का माहौल खुशनुमा रखे बाकी ईश्वर पर छोड़ दें । जो होना है वो होकर ही रहेगा । खुश रहे मस्त रहें और मन से डर निकाल दे । क्योंकि आधा बीमार तो इंसान को उसके दिमाग में बैठा डर ही बनाता है । करोना से मरने बालों की नहीं ठीक होने बालों की खबरों पर अधिक ध्यान दें । सबसे अधिक समय धार्मिक सामाजिक पुस्तकों सीरियलों पर दें । ताकि मन में नकारात्मक विचारों के बजाय सकारत्मक सोच बने । शांत मन से सोचना एक वर्ष से अधिक समय हो गया इस महामारी को झेलते हुये, इस दौरान हमने व हमारे देश ने कितना कुछ खोया । लेकिन अब कोरोना के टूटते कहर और उससे हुई हानि की नही बल्कि संकटकाल के समय में निडरता से जूझते हुये बहादुरी और संघर्ष से मिल रही सफलताओं को अपनी चर्चाओं और खबरों में शामिल करें । इतिहास गवाह है भारतवासियों ने प्रेम भाईचारे के साथ मिलकर हर संकट को मात देकर हमेशा जीत हासिल की है और इस बार भी कोरोना को भारी मात देकर भारत जीतेगा ।

नोट - मेरे इस लेख व विचार को अन्यथा लेनें के बजाय जनहित, देशहित में गम्भीरता से लेकर सकारात्मक सोच बनायें । इसको किसी व्यक्ति या राजनीतिक पार्टी से भी न जोड़ें । 

जय हिंद - जय भारत

No comments:

Post a Comment